सांपला का कैप्टन को चेलैंज: 1 चुनावी वादा गिनाएं, जो 9 माह में किया पूरा ?

कैप्टन की नौ माह की कारगुजारी: घोषणाओं, बैठकों और यू-टर्न: सांपला
धरने, प्रदर्शन व आत्महत्याएं कांग्रेस की 9 माह की उपलब्धि: सांपला
गुरदासपुर उपचुनाव में सरकारी धक्केशाही के बाद, अब म्युनिसिपेलिटी चुनावों में धक्के की तैयारी: सांपला 
कांग्रेस का साथ देने वाले सरकारी व पुलिस अफसरों पर है हमारी पैनी नजर: सांपला 
चंडीगढ़, 16 दिसंबर: आज 16 दिसंबर को कैप्टन साहब के शासन के 9 माह पूरे हो गए हैं, मेरा कैप्टन साहब से चैलेंज है कि ज्यादा नहीं सिर्फ 1 ऐसा चुनावी वायदा गिनवा दें, जो उन्होंने पूरा किया। यह कहना भारतीय जनता पार्टी पंजाब के अध्यक्ष व केंद्रीय मंत्री विजय सांपला का, जो कांग्रेस सरकार के 9 माह बीतने पर पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। इस मौके उनके साथ पंजाब के भाजपा के उपाध्यक्ष हरजीत सिंह ग्रेवाल, पूर्व प्रदेशाध्यक्ष राजिन्द्र भंडारी व प्रदेश सचिव विनीत जोशी विशेष तौर पर मौजूद थे।
चुनाव से पहले किसान, युवा, दलित, व्यापारी, बुजुर्ग, महिला, कर्मचारी, शहरी/ग्रामीण व पिछड़े वर्ग ऐसे 9 प्रमुख वर्गों के साथ किए गए कौन सा चुनावी वादा कैप्टन साहब ने पूरा किया। सभी ठगा ठगा सा महसूस कर रहे हैं और सबसे अधिक असर किसान पर पड़ा है, शायद यही कारण है कि कैप्टन साहब के राज में अब तक 343 किसान आत्महत्या कर चुके हैं तथा कुछेक तो सुसाइड नोट में कैप्टन सरकार को जिम्मेदार भी ठहरा चुके हैं।
सांपला ने आगे कहा कैप्टन साहब के 9 प्रमुख चुनावी वादे:- किसानों का पूर्ण कर्जा माफ, कुर्की ख़तम, घर-घर रोजगार, बेरोजगार को 2500 रुपए बेरोजगार भत्ता, स्मार्ट फोन, बेघर दलितों को घर, एक माह में नशे का खात्मा, बुजुर्ग व विधवा पेंशन को 1500 रुपए करना, इंडस्ट्री के लिए 5 रुपए प्रति यूनिट बिजली दर यह सभी पिछले 9 महीने में घोषणाओं से आगे नहीं बढ़ पाए। कांग्रेस सरकार ने 9 महीने में तीन काम किये, पहले घोषणाएं, फिर मीटिंगे और बाद में यु-टर्न ।
सांपला ने आगे कहा कि नौ महीने में अगर कांग्रेस ने पंजाब को दिया तो वो है:- धरने, मार्च, किसानो द्वारा आत्महत्या, आत्मदाह, बिजली के कट, सडक़ जाम, महिलाओं पर अत्याचार, दलितों पर अत्याचार, राजनितिक बदलाखोरी, आदि।
अब इन्होंने शहरी इलाके के लिए विजन डाक्यूमेंट जारी कर दिया है। मेरी पंजाब की जनता से अपील है कि अगर इन्होंने विधानसभा में कोई भी चुनावी वादा नहीं किया तो इस वीजन डाक्यूमेंट का क्या होगा, आप भलीभांति समझ सकते हैं।
स्थानीय निकाय मंत्री स. नवजोत सिंह सिद्धू जिनके महकमे के अंतर्गत म्यूनिस्पल कार्पोरेशन, म्यूनिसपेलिटिएं आदि शहरी इलाका आता है, पिछले 9 माह में अपने शहर अमृतसर में जगह-जगह लगे गंदगी के अंबार को तो हटवा नहीं पाए, जगह-जगह बंद पड़े सीवरेज, टूटी सडक़ों, गलियों की मरम्मत नहीं करवा पाए, पीने के पानी की सप्लाई दुरुस्त नहीं करवा पाए, तो पूरे पंजाब की कायाकल्प क्या करेंगे।
कांग्रेस के पास बताने को कुछ नहीं है इसलिए म्युनिसिपल चुनावों में जालंधर, अमृतसर, पटियाला, राजासांसी, अमलोह, मल्लांवाला खास, मक्खू, शाहकोट, बाघापुराना, पंजतूर, घगगा, घनौर, खेमकरन, तलवंडी साबो, नरोट जयमल सिंह आदि हर जगह सरकारी खास करके पुलिसिया गुंडागर्दी पर उतर लोकतंत्र का गला घोंट रही है मजाक बना रही है, यह कहते हुए सांपला ने मतदाताओं को अपील की कि 17 तारीख को आप अमृतसर, जालंधर, पटियाला व 31 म्युनिसिपेलिटी चुनावों में अकाली-भाजपा के उम्मीदवारों को जीताकर उन्हें सेवा का मौका दें।

Related posts

Leave a Comment